Haryana21.com Present

     
Jind News - Jind Update

 

 

जींद जिला अब विकसित एंव अग्रिम जिलों की पंक्ति में शामिल हो जाएगा

 
 
June 2, 2012

जींद जिला अब विकसित एंव अग्रिम जिलों की पंक्ति में शामिल हो जाएगा। विकास का सिलसिला तीन जून की जींद विकास रैली से शुरू होगा और मुकाम तक पहुंचने तक विकास कार्य लगातार जारी रहेंगे। यह बात मुख्यमंत्री के राजनैतिक सलाहकार प्रौ० वीरेन्द्र सिंह ने जींद विकास रैली की तैयारियों का जायजा लेने के उपरांत मीडिया कर्मियों से बातचीत के दौरान कही। प्रौ० वीरेन्द्र सिंह ने  आज जींद के पिछडेपन के लिए इनेलो सुप्रिमों ओमप्रकाश चौटाला व दूसरी गैर कांग्रेस दलो की सरकारों को जिम्मेदार ठहराया । उन्होंने कहा कि चौटाला चाहते तो जींद जिला का विकास हो सकता था। क्योंकि वह 6 साल तक राज्य में मुख्यमंत्री रहे है और वे जींद जिला से ही विधायक चुने गए थे। प्रौ० वीरेन्द्र सिंह ने सवाल किया कि चौटाला ने जींद के लोगांे को अपने शासन काल में क्या दिया। क्या उनके शासन काल में आर ओ बी अथवा फोर लेन जैसी परियोजनाएं आई थी।  उन्होंने कहा कि साढे़ चार दशक पहले जब हरियाणा का निर्माण हुआ तो उस दौरान राज्य में 7 जिले थे। जिनमें से एक जींद भी शामिल है। आज तीन गुणा अधिक जिले हो चुके है और बाद में बने 14 अन्य जिले भी विकास के मामले में आगे निकल गए है लेकिन हरियाणा का यह सबसे पुराना जिला विकास को गति नहीं दे पाया। उन्होेंने कहा कि इसके लिए चौटाला व दूसरे दल पूरी तरह से जिम्मेदार है। प्रौ० वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि जींद मंे केवल एक अर्बन एस्टेट बना था ,जिसका भी विकास नहीं हो पाया। प्रौ० वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि तीन जून की विकास रैली जींद में विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगी। उन्हांेने कहा कि इस दिन 1338 करोड़ रूपए की विभिन्न परियोजनाओं का शुभारम्भ मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिहं हुड्डा करेंगे। प्रौ० वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि अगले चार-पांच साल में जींद का नक् शा ही बदल जाएगा। उन्होंने कहा कि विकास परियोजनाओं पर कार्य पूरा होते ही जींद का सीधा सम्पर्क दिल्ली व दूसरे बड़े शहरो से हो जाएगा। मुख्यमंत्री के राजनैतिक सलाहकार ने कहा कि राज्य की हुड्डा सरकार के अब तक के कार्यकाल में 40 नए आरओबी बनाए जा चुके है जबकि चौटाला के शासन काल में एक ही आरओबी कुरूक्षेत्र में बना था। इस आरओबी ने सुविधा देने की बजाए समाज को दो भागों में बांटने का काम किया था। उन्हांेने कहा कि हालात यह थी कि एक भाई को दूसरे भाई से मिलने जाना पड़ता तो उसे टोल टैक्स देना पड़ता था,लेकिन मुख्यमंत्री हुड्डा ने चौटाला द्वारा लगाए गए टैक्स की अदायगी राज्य सरकार के माध्यम से की ओर टैक्स को समाप्त किया। प्रौ० विरेन्द्र सिंह ने इनैलो महासचिव अजय चौटाला के बयान पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा कि घोषणाएं तो चौटाला के शासनकाल में होती थी । हुड्डा के शासन काल में तो काम करके दिखााया जाता है और यही वजह है कि आज हरियाणा कई क्षेत्रों मंे आगे निकल गया है। उन्होंने कहा कि अगर चौटाला की विकास की सोच होती तो जींद जिला आज सबसे अव्वल होता।  प्रौ० वीरेन्द्र सिंह ने जनसभा की तैयारियों का जायजा लेने के बाद कहा कि वे तैयारियेां से संतुष्ट है । उन्होंने दावा किया कि जनसभा में बड़ी संख्या में लोग पहुंचेगे और यह स्थल छोटा पड़ जाएगा। प्रौ० वीरेन्द्र के साथ उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ,पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार,अतिरिक्त उपायुक्त अरविंद मलहान, उपमण्डल अधिकारी ना० जीएल यादव व नगराधीश नरेन्द्र पाल मलिक सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।  

 
 


 

 

 

 

 

 

 

Copyright 2011-2020 - Classic Computers.