Haryana21.com Present

     
Jind News - Jind Update

 

 

बीबीपुर गांव की ग्राम पंचायत ने गांव को पूर्ण रूप से सीएफएल टयूब युक्त बनाने के लिए मुहिम शुरू की

 
 
March 29, 2012

हरियाणा की पहली कम्प्यूटरीकृत ऑनलाइन ग्राम पंचायत का गौरव हासिल करने वाली जींद जिले की बीबीपुर गांव की ग्राम पंचायत ने अब गांव में ऊर्जा सरंक्षण को बढ़ावा देने एंव गांव को पूर्ण रूप से सीएफएल टयूब युक्त बनाने के लिए मुहिम शुरू कर दी है। इस मुहिम में गांव के सरपंच सुनील जागलान द्वारा गांव के सर्र्वे का कार्य पूरा कर लिया गया है ।         सरपंच सुनील जागलान ने बताया कि 6 हजार की आबादी वाले इस गांव में 2700 सीएफएल टयूब लाईटें लगाई जायेंगी । फिलहाल इस मुहिम के तहत 1700 बिजली के बल्बों को हटा कर टयूब लाईटें लगाने का कार्य पूरा कर लिया गया है ,  जिस पर साढ़े तीन लाख रूपए की राशि खर्च की जा चुकी है। गांव में ऊर्जा सरंक्षण के प्रति जागरूक करने के लिए तथा बल्बो के स्थान पर सीएफएल टयूब लाईट लगाने के कार्य का सर्वे भी गांव के ही विद्यार्थियों द्वारा पूरा करवाया गया है। गांव के 70 विद्यार्थियों की चार सर्वे टीम बनाई गयी हैं । उन्होंने बताया कि शुरू की गई इस मुहिम के तहत गांव में एक हजार परम्परागत बल्बों को हटाकर सीएफएल टयूब लगाये जाने का कार्य शेष है । खास बात यह हैं कि गांव वालों को यह टयूब लाईटें बाजार से आधी कीमत पर उपलब्ध करवाई जाएंगी,जिसका खर्चा ग्राम पंचायत द्वारा वहन किया जाएगा।         सरंपच के अनुसार गांव में ऊर्जा सरंंंंंक्षण का संदेश देने के लिए तीसरी कक्षा से बाहरवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के  4 जत्थे भी  तैयार किए गए हंै। इन जत्थों द्वारा ऊर्जा संरक्षण के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए बल्ब हटाओं,सीएफएल लगाओ,बिजली बचाओ, जैसे अनेक प्रेरक नारे तैयार किए गए हैं। बच्चों द्वारा ग्रामीणों को जागरूक करने के लिए हर रोज सवेरे 4 बजे जागरूकता रैलियां निकाली जा रही है। इसी प्रकार शाम पांच बजे भी बच्चों द्वारा गांव की गलियों,चौपालों एंव चौराहों पर पोस्टर एंव बैनर हाथ में लेकर ऊर्जा सरंक्षण का संदेश दिया जा रहा है। विद्यार्थियों द्वारा गांव के जिन घरों में अब तक  सीएफएल टयूब नहीं लगाई गई हैं ऐसे घरों में  वे जाकर सीएफएल टयूब लगाने का आग्रह करते हैं। उनके इस आग्रह को ग्रामीण भी एकदम से स्वीकार कर अगले दिन ही बल्ब की जगह सीएफएल टयूब लगा रहे हैं।         गणित विषय में एमएससी तक की पढ़ाई पूरी कर चुके सरपंच सुनील जागलान बताते हैं कि आज ऊर्जा हर क्षेत्र की जरूरत बन चुकी है, जिसके बिना विकास संभव नहीं है। उन्होंने बताया कि देश के विकास में हर व्यक्ति ऊर्जा की बचत कर अपना योगदान दे सकता है। उनका मानना है कि इस विषय में जागरूकता एक बड़ा हथियार हो सकती है। उन्हांेने बताया कि ऊर्जा संरक्षण के लिए सौर ऊर्जा बड़ा विकल्प है। गांव मंे 15 सौलर लाइटें भी लगवा दी गई हैं। जिसमें जिला प्रशासन का सहयोग सराहनीय रहा है। गांव के लोगों में सौलर ऊर्जा के प्रति जागरूकता फैलाने के दृष्टिगत भी योजना तैयार की गई हैं। जिसके तहत गांव में सभाएं करके इस गैर परम्परागत ऊर्जा स्त्रोतोें के बारे में आवश्यक जानकारी उपलब्ध करवाई जा रही है। गौरतलब है कि बीबीपुर गांव को  ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने वाली ग्राम पंचायत का पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया जा चुका हैं। सरंपच के अनुसार गांव में गोबर गैस प्लांट स्थापित करवाने कई विकास कार्यो  को करवाने के लिए कार्य योजना तैयार की जा रही है तथा लोगों को इसके महत्व के बारे में भी जागरूक किया जा रहा है। कृषि विभाग द्वारा गांव में गोबर गैस प्लांट स्थापित करवाने के लिए सेमिनारों का आयोजन भी करवाया जा रहा है। जिनमें लोग काफी रूचि ले रहें है।  

 
 


 

 

 

 

 

 

 

Copyright 2011-2020 - Classic Computers.