Haryana21.com Present

     
Jind News - Jind Update

 

 

हरियाणा सरकार ने जीन्द जिला के सभी खण्ड विकास एंव पंचातय कार्यालयों में सौलर पावर प्लांट लगाने का निर्णय लिया गया

 
 
February 15, 2012

चण्डीगढ़-हरियाणा सरकार ने जीन्द जिला के सभी खण्ड विकास एंव पंचातय कार्यालयों में नवीकरणीय ऊर्जा स्त्रोत मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग से सौलर पावर प्लांट लगाने का निर्णय लिया गया है। जींद जिला में यह एक पायलट परियोजना के तौर पर शुरू की गई है। इसके अतिरिक्त, जिला के सभी गांवों को सोलर लाईट सिस्टम लगाने के लिए 3322 सौलर लाईट लगाने का प्रस्ताव भी राज्य सरकार को भेजा गया है।यह जानकारी देते एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस परियोजना के शुरू करने के लिए सामान उपलब्ध हो गया है और जल्द ही इस परियोजना का क्रियान्वयन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि भारत सरकार के नवीकरणीय ऊर्जा स्त्रोत मंत्रालय द्वारा जवाहर लाल नेहरू नैशनल सोलर मिशन के तहत सोलर पावर प्लंाट लगाए जाएंगे। यह प्लांट 0.45 किलोवाट ऊर्जा क्षमता के होंगे जो प्रतिदिन 3 युनिट बिजली का उत्पादन करेंगे। इन प्लांटों पर मंत्रालय 6 लाख 30 हजार रूपए की राशि खर्च करेगा।उन्होंने बताया कि यह सौलर इनवर्टर हाई ब्रिड किस्म के होंगे जो ग्रिड बिजली के साथ-साथ सोर ऊर्जा से भी रिचार्ज हो सकेंगे। इन इनवर्टरों के माध्यम से घरेलू उपभोक्ता एक पंखा व दो सीएफएल टयूबों को 10 घंटे निरंतर चला सकेंगे। इन इनवर्टरों कोई भी वर्तमान में इनवर्टर उपभोक्ता इस तकनीकी का इस्तेमाल कर सकता है। उन्हें मात्र अक्षय ऊर्जा विभाग से स पर्क करके आवश्यक जानकारी लेनी होगी और बिजली से चलने वाले इनवर्टरों को ही सौलर इनवर्टरों में तबदील किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इन इनवर्टरों की चलने की क्षमता 30 से 35 साल है जो प्रतिमाह 500 रूपए बिजली के बिल में बचत कर सकता है।उन्होंने बताया कि इन प्लांटों के बीडीपीओ कार्यालयों में स्थापित होने के बाद दो कमरों की लाईट, पंखे, एवं ईंटरनेट समेत क प्यूटर पर अन्य कार्यो को पूरा किया जा सकेगा। इन प्लांटों के स्थापित होने पर एक तरफ जहां निर्बाध बिजली उपलब्ध होगी वहीं दूसरी ओर बिजली के खर्चे से भी निजात मिलेगी। एक सोलर पावर प्लंाट लघु सचिवालय, जीन्द में भी लगाये जाने की परियोजना तैयार की गई है। यह पावर प्लंाट साढ़े 4 किलोवाट का होगा जिसके साथ लघु सचिवालय के कई महत्वपूर्ण कार्यालयों को जोड़ा जाएगा। यह पावर प्लांट प्रतिदिन 25 युनिट बिजली का उत्पादन करने में सक्षम होगा। जिसके माध्यम से कार्यालयों में लाईट,पंखे एवं क प्यूटरों को जोडक़र आम जन के कार्यो को तयसीमा में पूरा किया जा सकेगा।प्रवक्ता ने बताया कि इसके साथ-साथ हमेटी संस्थान में भी एक बड़ा 5 किलोवाट का पावर प्लांट लगाया जाएगा। जो प्रतिदिन 30 युनिट बिजली का उत्पादन करेगा। लघु सचिवालय एंव हमेटी संस्थान में लगने वाले पावर प्लांटों पर लगभग 11-11 लाख रूपए खर्च होंगे। पावर प्लांट स्थापित करने का यह कार्य जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा। हमेटी संस्थान में लगने वाले पावर प्लांट के लिए टैंडर दिया जाएगा। फिलहाल जिला के विभिन्न गांव में 252 सोलर लाईटें लगाने का कार्य पूरा कर लिया गया है। एक अन्य योजना के तहत जिला के 10 गांवों के चुने हुए उपभोक्ताओं को 190 सोलर इनवर्टर उपलब्ध करवाने के लिए भी प्रस्ताव स बंधित विभाग को भेजा गया है।

 
 


 

 

 

 

 

 

 

Copyright 2011-2020 - Classic Computers.